Text selection Lock by Hindi Blog Tips

मंगलवार, 14 फ़रवरी 2012

प्यार की खुली किताब...........





आज खुले पन्नों की तरह 
प्यार हम सबके सामने है...
ज़िन्दगी की किताब पर 
इसकी एक एक इबारत 
अब साफ़ साफ़ ..
दिखाई देने लगी हैं....!
सबकी अलग अलग 
मन:स्थिति के हिसाब से 
प्यार भी अपने अनेकों रूप में 
सामने आ रहा है हमारे ....!
ऐसा नहीं कि प्यार की 
कहीं कोई कमी है !
बस जब दिखना चाहिए 
ये गुम हो जाता है कहीं !
जरा खुद के अन्दर झांकें हम सब......
प्यार तो है......
कहीं किसी कोने में दुबका हुआ....
गुमसुम सा.....
इसी इंतज़ार में कि....
कोई आ के छू ले हौले से...
तो बिखरती साँसों को समेट
ये फिर लड़खड़ाते हुए 
सीधे खड़ा हो जाए.... 
और गाने लगे........
"हमीं से मुहब्बत हमीं से लडाई...
अरे मार डाला दुहाई....दुहाई...."





पटना....
१४-०२-२०१२ 
(धन्यवाद...मुकेशजी )

23 टिप्‍पणियां:

  1. प्यार के अनेक रूप /// गिने न गिनाये पूनम जी

    उत्तर देंहटाएं
  2. जिससे प्यार होता है लड़ाई भी तो उसीसे होती है ... :):)

    उत्तर देंहटाएं
  3. बात तो सही कह दी ………………बहुत ही प्यारी प्रस्तुति।

    उत्तर देंहटाएं
  4. आपकी पोस्ट चर्चा मंच पर प्रस्तुत की गई है
    कृपया पधारें
    http://charchamanch.blogspot.com
    चर्चा मंच-791:चर्चाकार-दिलबाग विर्क

    उत्तर देंहटाएं
  5. uff!! wah Di!! kisi kavita ko padhna aur pratiuttar me apni bhavnayen ek kavita roop me hi vyakt kar dena... bahut badi baat hai..!!
    "pyar to hai, par kisi kone me dubka sa, sahma sa.."
    shukriya POONAM di:))

    उत्तर देंहटाएं
  6. सुन्दर प्रस्तुति..
    kalamdaan.blogspot.in

    उत्तर देंहटाएं
  7. Vishwas Ki Ek Dori Hai Pyaar
    Betaab Dil Ki Majboori Hai Pyaar
    Na Maano Toh Kucchh Nahin
    Aur Maano, Toh Hamari Kamzoori Hai Pyaar...bhut hibhadhiya or dilko chu jane vali rachna

    उत्तर देंहटाएं
  8. aapki rachnaye dil ko chhu jati hai sach kah raha hoon mam.....

    उत्तर देंहटाएं
  9. जो बात कही है बहुत सही,
    जहाँ त्याग सिर्फ है प्यार वहीं।
    खूबसूरत रचना के लिये बधाई....
    नेता- कुत्ता और वेश्या (भाग-2)

    उत्तर देंहटाएं
  10. बहुत सुन्दर प्रस्तुति पूनम जी...
    बधाई..

    उत्तर देंहटाएं
  11. pyar k kya kaheney,pyar ki bas pyar hi jane...hai ek sukhad ahesaas............

    उत्तर देंहटाएं
  12. प्यार ऐसा ही है...कभी छिपा हुआ कभी प्रकट...हाथ आकर भी दूर जाता हुआ...

    उत्तर देंहटाएं
  13. प्यार का ये एहसास ही प्यार को खोज लाता है और सीधा खड़ा कर देता है ...

    उत्तर देंहटाएं