Text selection Lock by Hindi Blog Tips

बुधवार, 29 दिसंबर 2010

शांति-शांति-शांति....




लम्बे-लम्बे बांसों के झुरमुट में,बड़े-बड़े पेड़ों के बीच,ऊँची-ऊँची इमारतों और मकानों के बीच में जैसे कुहासा अपनी जगह बना लेता है,हर छोटे-बड़े space को भर देता है,मन की शान्ति भी कुछ  उसी तरह है..एक बार गर space बनाने लगे तो हर जगह,हर सम्बन्ध और रिश्ते में,किसी भी स्पर्श में,किसी भी emotion में पैर पसारती जाती है.. ऊपर-ऊपर से तो आप हिले हुए दिखाई देते हैं लेकिन भीतर-भीतर कुछ पसरता जाता है कुहासे की तरह....शांति-शांति-शांति....

12 टिप्‍पणियां:

  1. एहसास की यह अभिव्यक्ति बहुत खूब

    उत्तर देंहटाएं
  2. आदत.......मुस्कुराने पर
    " ......इक अनाथ का दर्द ........".......संजय भास्कर
    नई पोस्ट पर आपका स्वागत है

    उत्तर देंहटाएं
  3. अहसासों की सुन्दर अभिव्यक्ति

    उत्तर देंहटाएं
  4. नव वर्ष की शुभ कामनाये पुनमजी!

    उत्तर देंहटाएं
  5. आदरणीय पूनम जी
    आपका शुक्रिया किन शव्दों से करूँ ....बस दिल कह रहा है कि...आपका आशीर्वाद यूँ ही बना रहे ...यह सब नजर कि बात है ...जीवन के सफ़र में क्या कुछ हो जायेगा इस बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता ...आपके प्रत्येक शब्द ने मुझे प्रभावित किया है ...निश्चित है कि आपकी सोच मुझसे कहीं आगे है ....अपना आशीर्वाद यूँ ही बनाये रखना ...यही प्रार्थना है ...शुक्रिया

    उत्तर देंहटाएं
  6. आपकी रचना में एहसासों की खुबसूरत अभिव्यक्ति हुई है
    ...आपका आभार
    नव वर्ष 2011 की हार्दिक शुभकामनायें ...स्वीकार करें ...शुक्रिया ...
    मेरे ब्लॉग पर पधारने के लिए आपका तहे दिल से आभार ...

    उत्तर देंहटाएं
  7. नव-वर्ष की शुभकामनाएँ आपको और आपके परिवार को भी

    उत्तर देंहटाएं
  8. aap mere blog pe aayee, aur bas "yun hi" maine aapke profile pe click kar diya, aur yahan pahuch gaya.....lekin yahan pahuchna sukhad raha....ek achchhe blog se banchhit rah jata....:)

    ab follow kar raha hoon, barabar aaunga...:)

    उत्तर देंहटाएं
  9. shanti kee talaash mein jeevan gujar jaataa hai
    insaan ashantee mein jeetaa rahtaa hai

    behad khoobsoorat khyaalaat

    उत्तर देंहटाएं