Text selection Lock by Hindi Blog Tips

मंगलवार, 11 जून 2013

नक़ाब.....





अपने चेहरे से हटा दे तू अब ये दोहरे नक़ाब...
इनसे महफूज़ तेरी फितरत न बदल पाएगी..!
मैंने कब था कहा...'तू मुझको संवार जालिम...'
तू सुधर जाय तो किस्मत भी संवर जायेगी..!!

***पूनम***
बस अभी अभी...


13 टिप्‍पणियां:

  1. तू सुधार जाय तो किस्मत भी संवर जायेगी..!!--बहुत सुन्दर !\
    latest post: प्रेम- पहेली
    LATEST POST जन्म ,मृत्यु और मोक्ष !

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत खूब .. तू जो संवर जाए तो किस्मत संवर जाएगी ...
    लाजवाब ....

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत सच कहा, जैसे हैं, वैसे दिखें।

    उत्तर देंहटाएं
  4. आपकी यह प्रस्तुति कल चर्चा मंच पर है
    धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  5. आपने लिखा....हमने पढ़ा
    और लोग भी पढ़ें;
    इसलिए आज 15/06/2013 को आपकी पोस्ट का लिंक है http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
    आप भी देख लीजिए एक नज़र ....
    धन्यवाद!

    उत्तर देंहटाएं